ये है राजस्थान के डूंगरपुर की गौरी

शेयर करें
डूंगरपुर, राजस्थान, महिला शस्त्रीकरण, भारतीय महिला, महिला समाचार के.के. गुप्ता

कहते हैं जब एक महिला सक्षम होती है तो पुरे परिवार का विकास होता है। लेकिन राजस्थान के दक्षिण में बसे खूबसूरत नगर डूंगरपुर में एक महिला के सक्षम होने की कहानी अपने आप में खास है। आज हम आपको एक ऐसी ही सक्षम महिला से मिलवाने जा रहे हैं।

ये हैं डूंगरपुर की गौरी, जिन्होंने घर में शौचालय बनवाकर इस नगर में, एक अलग ही लहर को बढ़ावा दिया। आज से तीन साल पहले तक डूंगरपुर में गौरी की ही तरह ऐसे अनगिनत घर थे जहाँ कभी किसी ने शौचालय बनाने के बारे में नहीं सोचा। पर बेटी की बढ़ती उम्र बार बार गौरी को सोचने पर मजबूर कर रही थी कि बेटी सयानी हो रही है घर में शौचालय बनाना ज़रूरी है।

लेकिन गौरी के सामने सबसे बड़ा सवाल था घर में शौचालय बनाने का पैसा कहाँ से आएगा ? गौरी ने तय किया की वो अपनी बकरी और चांदी की पायल बेच कर बेटी के लिए घर में शौचालय बनवाएगी। गौरी ने वही किया जो उसने तय किया था। उसने घर के बाहर शौचालय बनवाना शुरू किया, पर जब इस बात की खबर यहाँ के निगम परिषद् के सभापति के.के. गुप्ता को मिली, तो उन्होंने सिर्फ गौरी ही नहीं बल्कि हर उस महिला की मदद करने की ठान ली, जो गौरी की तरह घर में शौचालय बनाना चाहती थी। गौरी के इस कदम के लिए नगर परिषद् ने उसे 12 हज़ार रुपया देकर मदद की। इस तरह गौरी के घर में शौचालय की पहल से नगर में एक नई सोच की शुरुआत हुई। यानी एक सक्षम महिला ना सिर्फ अपने परिवार बल्कि पुरे नगर के विकास की पहल बनी। इन महिलाओं को स्वच्छ और शर्मिंदगी के बिना ज़ीने में मदद की, उस शख्स ने जो आज डूंगरपुर में सभी के आदर्श और उम्मीद बन कर सामने आये हैं।वो हैं यहाँ के निगम परिषद् के सभापति के.के. गुप्ता।