साहसिक कदम: भारतीय महिला नौसैनिकों ने समुद्र के रास्ते लगाया दुनिया का चक्कर

शेयर करें
PC - FB / INDIAN NAVY

भारत की 6 बहादुर बेटियों ने ऐसा कारनामा कर दिखाया है कि आज हर भारतीय का सिर गर्व से उंचा है। जी हां हम बात कर रहे है। नौसेना की जांबाज महिला अफसरों के उस दल की जिन्होंने छोटी पाल नौका से समुद्र का चक्कर लगाया है और 21 मई को वे लौट आई हैं।

आपको बताते चलें देश में ही बनी छोटी पाल नौका आईएनएस तारिणी पर सवार लेफ्टिनेंट कमांडर वर्तिका जोशी (उत्तराखंड) के नेतृत्व में 6 अधिकारियों ने पूरे 254  दिन का सफर पूरा किया। यह एशिया की पहली महिला टीम है जिसने इस मुश्किल लक्ष्य को हासिल किया है।

 इन महिलाओं अफसर ने ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, दक्षिण अफ्रीका और मॉरिशस के रास्ते होते हुए पांच चरणों में पूरा किया है। दल ने 5 देशों, 4 महाद्वीपों और 3 महासागरों को पार करते हुए कुल 21  हजार 600 समुद्री मील का सफर तय किया। आप और हम सोच भी नहीं सकते इन रास्तों से गुजरते हुए इन महिलाओं ने कितनी मुसीबतों का सामना करना पड़ा होगा। भारत की इन बहादुर बेटियों ने समुद्र का माउंट एवरेस्ट कहे जाने वाले दुर्गम समुद्री क्षेत्र केप हॉर्न में जब वे तिरंगा फहराया है। ये पहली बार है जब नौसेना की महिला अधिकारियों ने विश्व की परिक्रमा की है। इनके अभियान को नाविका सागर परिक्रमा नाम दिया गया।