राजेन जैन – बेटी का पापा बनना गजब सी खुशी है और साथ में जिम्मेदारी भी

शेयर करें
happy fathers day

सिटी के जानी मानी चाइल्ड आर्टिस्ट और किड यूटूबर कविशि को आज कौन नहीं जनता। कविशि ने कुछ ही समय में लोगों के बीच एक बहुत ही ख़ास पहचान बनाई है। जिसमे उनकी माँ संगीता जैन की मेहनत साफ़ नज़र आती है। पर आज क्यूंकि पापाज़ डे यानी फादर्स डे है तो सोच की क्यों न आप सबसे इस खूबसूरत और चुलबुली कविशि के हैंडसम पापा से भी रूबरू कराया जाये। इस लिए सिटी वुमन मैगज़ीन की पेरेंटिंग टीम ने बातचीत की कविशि जैन के प्यारे पापा राजेन जैन से।

राजेन से जी क्यूंकि आज फादर्स डे है तो बातचीत की शुरुआत आपके और कविशि के बीच प्यार भरे सम्बन्ध से होनी चाहिए ?
मेरा और कविश एक दूसरे के साथ बिलकुल एक दोस्त की तरह हैं। वह मेरे साथ खेलती है कभी मेरे ऊपर चढ़ती है कभी लूडो के लिए बोलती है, डांस दिखाती है, खास बात यह है जब मैं उसके दोस्तों के बारे में पूछता हूं तो बहुत दिलचस्पी लेकर बताती है। दिन के तमाम प्रॉब्लम को शेयर करती है और काफी उत्सुकता से बताती है।

एक पिता के लिए घर में बेटी का होना कितना ख़ास होता है ?
घर में बेटी रहने से खुशियां रहती है घर में चहल पहल रहती है कभी अगर वाइफ से कुछ अनबन हो जाए तो तो बेटियां हमारी तरफ होती है बिटिया रहने से एक और खास बात है कि वह आपका आने का इंतजार करती है घर आते हैं तो लगता है कोई वेट कर रहा है और मेरी बेटी इसमें खास है।

वो पहला एहसास जब आपने अपनी बेटी को पहली बार गोद में लिए था?
मुझे याद है लगभग 7:30 बजे मेरी बेटी काविशि ऑपरेशन थिएटर से नीचे आई थी | मैंने नर्स से पूछा ये मेरी बेटी है ? उसके थोड़े थोड़े बाल थे। लिप्स बिल्कुल लाल थे। जब नर्स उसे रूम में ले गई और उसने आंखें खुली तो उसकी आंखें बिल्कुल ग्रे कलर की थी। बेटी का पापा बनना अजब सी खुशी है और साथ में जिम्मेदारी भी।

आप दोनों का फेवरेट टाइम पास क्या है जिसे आप दोनों एन्जॉय करते हैं?
मेरी बेटी और मेरा फेवरेट टाइमपास। हम दोनों तरह-तरह की बातें करते हैं खासकर कि उसकी फ्रेंड की। उसकी फ्रेंड ने उससे क्या कहा ? उसकी अपनी फ्रेंड से क्यों लड़ाई हो गई ? वह क्या करना चाहती है ? तमाम सारी बातें। इसके अलावा हम लोग दोनों टेबल टेनिस खेलते हैं बॉल बॉल खेलते हैं। पर सबसे अच्छा टाइम पास है उसे गप्पे मारना।

अपनी बेटी के साथ रिश्ता मज़बूत करने के लिए अपनी पत्नी की इज़्ज़त करना कितना ज़रूरी हैं ?
बेटी और पत्नी दोनों को सुरक्षा चाहिए। सुरक्षा चाहे भावनात्मक हो या शारीरिक हो। हर तरह की सुरक्षा। जब बेटी देखती है कि पत्नी और मेरा रिश्ता अच्छा है तो वह खुद भी खुश होती है। मैं जितना अपनी वाइफ की इज़्ज़त करता हूं उतना ही वह मेरी भी इज़्ज़त करती है।

बेटी को सरप्राइज़ देना हो तो क्या करना पसंद करेंगे। या कोई पल जब आपके सरप्राइज़ से उसके चेहरे पर आई ख़ुशी आप कभी भूल नहीं पाएंगे ?
मैं अपनी बेटी को बहुत तरीके से सरप्राइज़ देता हूं कभी उसके लिए नया ड्रेस ले आता हूं तो कभी केक तो कभी आइसक्रीम। सच में मेरी बेटी एक सरप्राइज़ गर्ल है उसे सरप्राइज़ अच्छे लगते है। एक बार मैं अपने काम से बाहर गया हुआ था। वह मुझसे लगातार फोन पर बात कर रही थी और कह रही थी पापा मेरा मन नहीं लग रहा है आप जल्दी आ जाओ। पर मैंने उसके लिए एक सरप्राइज़ रखा था। उस दिन उसका जन्मदिन था और मैं अचानक से जब उसके पास पहुंचा वह खुश हो कर उछल गई और मेरी गोदी में आ गई। बहुत अच्छा पल था वो मेरे लिए।

आपके लिए क्या ज़रूरी है बेटी के सपने पुरे करना या उसे आपके सपने को जीतते हुए देखना ?
बेटी के सपने को को पूरा करना। मेरी बेटी एक बहुत अच्छी अच्छी डांसर है। क्योंकि हर पिता को यह लगता है कि उसकी बेटी सबसे ख़ास है पर उसे देख मुझे हमेशा यही महसूस होता है कि वह आगे जाकर बहुत नाम कमाएगी। मेरी बेटी केवल अपनी खुशियों के लिए नहीं जीती है उसके पापा अगर खुश होते हैं तो वह भी खुश होती है अगर मैं कभी उदास होता हूं तो वह भी उदास हो जाती है। मेरे साथ है मेरे मन के साथ और मेरी भावनाओं के साथ उसका एक ख़ास सम्बन्ध है। सबसे ज्यादा आज मैं प्यार करता हूं तो मेरी बेटी को। इसका यह मतलब नहीं कि मैं अपनी पत्नी को प्यार नहीं करता हूं पर बेटी की बात ही अलग है वह बिल्कुल निस्वार्थ प्यार होता है। मेरी एक बात याद रखिएगा जिस घर में बेटियां बहनें और पत्नियां खुश है उस घर को बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता है।