जाने क्यों होता है महिलाओं को डिलीवरी के बाद डिप्रेशन ?

शेयर करें
जाने क्यों होता है महिलाओं को डिलीवरी के बाद डिप्रेशन ?
Photo Courtesy : soc.ucsb.edu

माँ बनना किसी भी महिला के लिए नए जन्म से कम नहीं होता है। नई ज़िम्मेदारी और उससे जुड़े खूब सारे सवाल। अपने बच्चे को गोद में लेते ही हर माँ यही कामना करती है कि वो उसका हर तरह से ख्याल रखेगी। ये पल जहां एक माँ के लिए खूबसारी खुशियां लेकर आते हैं। पर प्रसव के कुछ माह के बाद कई महिलाएं मानसिक परेशानियों का शिकार होने लगती हैं। इसे पोस्टपार्टम डिप्रेशन कहा जाता है। स्त्रीरोग विशेषज्ञ इसे बहुत ही गंभीर रोग मानते हैं।

अब सवाल ये उठता हैं कि प्रसव के बाद होने वाले इस तरह के मानसिक रोग के क्या कारण हैं? क्यों प्रसव के बाद कुछ महिला इस तरह का व्यवहार करने लगती है? विशेषज्ञों की माने तो ऐसा गर्भधारण के बाद शरीर में पाए जाने वाले कई तरह के हरमोंस के स्तर में परिवर्तन की वजह से होता है। बच्चा चाहे जीवित हो, स्वस्थ हो या फिर मृत। इस तरह के लक्षण गर्भपात के बाद भी देखने को मिल सकते हैं, क्योंकि इस स्थिति में भी शरीर में हारमोंस में बदलाव होते हैं। ऐसे में कई ऐसी स्थितियां होती सकती हैं जिनके कारण एक नई माँ डिप्रेशन का शिकार हो सकती है जैसे – 

1. गर्भपात होने या फिर मृत शिशु के जन्म देने की वजह से भी महिला मानसिक तनाव और डिप्रेशन के दौर से गुजरने लगती है। भीतर से एकदम से टूट जाती है।
2. बच्चे को दूध पिलाने की वजह से माँ ठीक से सो नहीं पाती। उससे बार बार उठना पड़ता है। नींद पूरी ना होना भी इसकी एक वजह हो सकती है।
3. माँ बनने के बाद शरीर कमजोर हो जाता है। जिसे कवर होने में थोड़ा वक़त लगता है ऐसे में परिवार का स्पोर्ट बहुत ज़रूरी है। परिवार नई माँ की ख़ुशी का ख्याल रहे ये बहुत ज़रूरी है।
4. हो सकता है जब महिला माँ बनने के लिए मानसिक रूप से तैयार नहीं थी। या प्रग्नेंसी में कम्प्लीकेशन रही हों।
5. हो सकता है उससे बच्चे को अकेले ही संभालना पड़ रहा हो और उससे मदद की ज़रूरत हो। मदद न मिलने पर वो डिप्रेशन का शिकार हो रही हो।
6. हो सकता है बेटे की जगा बेटी होने का कोई उससे ताना देता हो घर में जिसे लेकर वो परेशान रहने लगी हो।
7. इसके अलावा हो सकता है उससे लगता हो की बच्चे की जिस तरह से देखभाल होनी चाहिए वैसे नहीं हो पा रही है अगर नई माँ के आसपास का माहौल उसके और उसके बच्चे के अनुकूल नहीं है।

 

और भी देखें

और भी देखें

और भी देखें

और भी देखें