डैंड्रफ, बैक्टीरियल इंफेक्शन से ऐसे करें बालों का बचाव – डॉ नरेश अरोड़ा

रूसी त्वचा के अंदर होती है, इसलिए नियमित रूप से बालों की देखभाल करें

शेयर करें

Dr. Naresh Arora, Founder of Chase Aromatherapy Cosmetics and Skincare Institute

Dr. Naresh Arora 
Founder of Chase Aromatherapy Cosmetics 
& Skincare Institute
हर व्यक्ति को रसायनों से युक्त हेयर केयर उत्पादों का प्रयोग करने से बचना चाहिये, क्योंकि इस प्रकार के उत्पाद आपके बालों के लिये नुकसानदायक हो सकते हैं। हेयर आपके लिये काफी मायने रखते है, इसलिए जब बालों की देखभाल की बात आती है तो आप बालों के उत्पाद को बिना सोचे समझे नहीं चुन सकते। साथ ही, हर कोई प्राकृतिक हेयर कलर पसंद करता है, तो क्यों ना ऐसे ट्रीटमेंट को चुनें, जिनमें रसायनों का प्रयोग नहीं किया जाता। इसे पूरी तरह से प्राकृतिक उत्पादों की मदद से किया जाता है। बालों के प्राकृतिक उपचार के लिये अरोमाथैरेपी सबसे बेहतर विकल्प है।
Protect hair from bacterial infection and Dandruff
Protect hair from bacterial infection and Dandruff
बालों से जुड़ी सबसे प्रमुख समस्या डैंड्रफ या रूसी की होती है, जिसका हमें सामना करना पड़ता है। सबसे पहले तो आपको यह जानना चाहिये कि रूसी होती क्या है। कंधों पर जो व्हाइट स्केल्स आप देखते हैं वह दरअसल शैम्पू को सही तरीके से नहीं धोने पर होता है। इसका मतलब है कि असलियत में रूसी आपके स्कैल्प के नीचे है, जोकि बैक्टीरियल इंफेक्शन या जीवाणु संक्रमण का एक प्रकार है। इसके बढ़ने में थोड़ा समय लगता है और यहां तक कि यह गर्मियों में भी मौजूद रहता है। इस संक्रमण के उपचार में कम से कम 6 महीने से एक साल का वक्त लगता है, जिससे रूसी सही मायने में खत्म होती है। बाल धोने के लिये गर्म पानी का प्रयोग करने से व्हाइट स्केल की मात्रा बढ़ जाती है।
Protect hair from bacterial infection and Dandruff
Protect hair from bacterial infection and Dandruff
ऐसा माना जाता है कि शैम्पू बालों के लिए अच्छे होते हैं जोकि सच नहीं है। शैम्पू की बजाय साबुन ज्यादा अच्छे होते हैं क्योंकि शैम्पू की तुलना में उनकी पार्टिकल साइज ज्यादा बड़ी है और यह बालों से जल्दी निकल जाते हैं। शैम्पू विभिन्न रसायनों का संयोजन है। यदि आप शैम्पू का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो ऐसे शैम्पू का चुनाव करें जो सल्फेट रहित डिटरजेंट बेस हो और पैराबेन प्रिजर्वेटिव्स से भी मुक्त हो। सबसे महत्वपूर्ण है कि, इसमें अत्यधिक रूखे और बेजान बालों एवं स्कैल्प बालों के लिए प्राकृतिक ऐक्टिव सामग्रियां (जैसे एंटी डैंड्रफ फॉर्मूला), सॉफ्ट बेबी शैम्पू बेस भी हो। सुनिश्चित करें कि आप ढेर सारे गुनगुने पानी से इसे अच्छी तरह धोयेंगे।
यदि आप शैम्पू को सही तरीके से नहीं धोते हैं तो आपके बालों की चमक और खूबसूरती खत्म हो जायेगी। बालों को सही आकार में बनाये रखने के लिये तेल लगाना भी बहुत महत्वपूर्ण है। यदि सही तरीकों का प्रयोग किया जाये तो आप बेहतर परिणाम देख सकते हैं और सही तेल का चुनाव कर सकते हैं। नारियल तेल इस्तेमाल करने का विकल्प अच्छा हो सकता है, लेकिन यह गर्मियों में ज्यादा अच्छा होता है।
रूसी त्वचा के अंदर होती है, इसलिए नियमित रूप से बालों की देखभाल करें। सही रूप में अरोमाथैरेपी का प्रयोग करने से त्वचा के रोमछिद्र पर प्रभाव पड़ता है।
जाने बालों में तेल लगाने की सही तकनीक – डॉ नरेश अरोड़ा
बालों की देखभाल में कंडीशनर की भूमिका को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता। यह तौलिये से होने वाली क्षति से बालों को बचाता है। इसलिए, जरूरत हो तो कंडीशनर का प्रयोग करें। साथ ही, इस बीच इस बात को ध्यान में रखें कि लीव ऑन/बिल्ड ऑन कंडीशनर का प्रयोग न करें, इनमें सिलिकॉन ऑयल होता है। यह बालों पर गुरुत्वाकार्षण दबाव डालता है, जिससे आगे चलकर आपकी जड़ें और भी कमजोर हो जाती हैं।
ऐसे कंडीशनर का प्रयोग करें, जो अच्छी तरह से धुल कर बालों से निकल जाता है, साथ ही जिनमें प्राकृतिक सामग्रियों का प्रयोग किया गया हो।